राजस्थान की जनसंख्या विशेषताएँ Demographic Features

राजस्थान की जनसंख्या

राजस्थान की जनसंख्या विशेषताएँ

2011 की जनगणना के अनुसार ( According to the 2011 census )

राजस्थान की जनसंख्या

 1. राजस्थान की कुल जनसंख्या –  6.86 करोड़ लगभग

2. राजस्थान की पुरुष जनसंख्या –   35620086

3. राजस्थान की स्त्री जनसंख्या –   33000926

4.  राजस्थान की दशकीय जनसंख्या वृद्धि दर-  21 .44 % 

5. राजस्थान में साक्षरता प्रतिशत- 67 .06% 

6. राजस्थान में पुरुष साक्षरता प्रतिशत-   80 .51  %

7. राजस्थान में महिला साक्षरता प्रतिशत-  52 .66 %

8. अधिकतम एवं न्यूनतम_जनसंख्या वाले जिले-

राजस्थान में सर्वाधिक जनसंख्या वाले 5 जिले –

  1.  जयपुर –                66,63,971 
  2. जोधपुर –                36,85,681 
  3. अलवर –                36,71,999 
  4. नागौर –                 33,09,234
  5. उदयपुर –              30,67,549

राजस्थान में न्यूनतम जनसंख्या वाले 5 जिले Read the rest

Read more

Agriculture of Rajasthan: राजस्थान में कृषि

Agriculture of Rajasthan

Agriculture of Rajasthan राजस्थान में कृषि

राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 3 लाख 42 हजार 2 सौ 39 वर्ग कि.मी. है। जो की देश का 10.41 प्रतिशत है।

राजस्थान में देश का 11 प्रतिशत क्षेत्र कृषि योग्य भूमि है और राज्य में 50 प्रतिशत सकल सिंचित क्षेत्र है जबकि 30 प्रतिशत शुद्ध सिंचित क्षेत्र है।

राजस्थान का 60 प्रतिशत क्षेत्र मरूस्थल और 10 प्रतिशत क्षेत्र पर्वतीय है। अतः कृषि कार्य संपन्न नहीं हो पाता है

और मरूस्थलीय भूमि सिंचाई के साधनों का अभाव पाया जाता है।

अधिकांश खेती राज्य में वर्षा पर निर्भर होने के कारण राज्य में … Read the rest

Read more

Industry of Rajasthan: राजस्थान में उद्योग

Industry of Rajasthan

Industry of Rajasthan (राजस्थान में उद्योग)

लघु एवं कुटीर उद्योग ( Small and cottage industries )

प्रदेश का पहला राईस क्लस्टर बूंदी में बनाया जा रहा है।

हाथ से कोठा डोरिया उत्पाद बनाने वालो के लिए जी.आई.पेटेंट लागु किया गया है।

राजस्थान लघु उद्योग निगम द्वारा राज्य की लुप्त हो रही फड़ चित्रकला के पुनरुत्थान के लिए शाहपुरा (भीलवाड़ा) में संचालित किया जा रहा है।

Industry of Rajasthan

राज्य में ग्रामीण अकृषि क्षेत्र – हैण्डलूम , हस्तशिल्प व कृषि / ऊन / खनिज आधारित उद्योगों के विकास को प्रोत्साहन देने हेतु रुडा ( RUDA) एजेंसी का गठन किया।… Read the rest

Read more

Rajasthan ki Sinchai Pariyojana: राजस्थान की सिंचाई परियोजना

Rajasthan ki Sinchai Pariyojana

Rajasthan ki Sinchai Pariyojana (राज्य की प्रमुख सिचाई)

  1. भाँखड़ा नाँगल परियोजना
  2. व्यास परियोजना
  3. चम्बल घाटी परियोजना
  4. माही परियोजना

ये परियोजनाए बहुउद्देश्य परियोजनाए भी है इनसे सिचाई पेयजल एंव विद्युत की पुर्ति करवायी जाती है

1. भांखड़ा नाँगल परियोजना (Bhankha Nagal Project)

यह देश की सबसे बड़ी नदी घाटी बहुउद्देशीय परियोजना है जो कि राजस्थान, पंजाब और हरियाणा की मिश्रित परियोजना है 

इस परियोजना के निर्माण का सर्वप्रथम विचार 1908 में लुईस डेने के दिमाग में आया स्वतंत्रता के बाद मार्च 1948 में इसके निर्माण का कार्य शुरू हुआ 

इस परियोजना का निर्माण दो चरणों में हुआ जिसमें दो … Read the rest

Read more

Mines of Raj: राजस्थान की खान एवं खनिज संपदा

Mines of Raj

Mines of Raj (राजस्थान की खान व खनिज)

राजस्थान में भौतिक दृष्टि से तीन मरु, मेरु व माल भू- आकृतियों का विशेष महत्व है।

राजस्थान में अरावली प्रदेश खनिज संसाधनों की दृष्टि से धनी है।

पश्चिमी राजस्थान में अधात्विक खनिज व शक्ति के स्रोत पाए जाते हैं।

Mines of Raj

पूर्वी राजस्थान के खनिज की कमी पाई जाती हैं। खानो कि दृष्टि से राजस्थान का प्रथम स्थान है।

राजस्थान में सर्वाधिक कुल 79 प्रकार के खनिज पाये जाते है। जिनमें 44 प्रकार के बड़े खनिज व 23 प्रकार के लघु खनिज एवं 12 अन्य गौण खनिज पाए जाते … Read the rest

Read more