What is PPF ACCOUNT ( FULL DETAILS ) ( पीपीएफ अकाउंट की पूरी जानकारी 2021 IN HINDI) PPF

ACCOUNT की एक स्कीम है। जोकि स्मॉल सेविंग स्कीम है यह स्कीम सभी लोगों के लिए है। इसमें अकाउंट खुलवा कर कोई भी पैसा जमा कर सकता है। जो कि एक सेविंग फंड है। What is PPF ACCOUNT FULL DETAILS | आप किसी भी डाकघर या बैंकों में खुलवा सकते हैं। सबसे बेस्ट पीपीएफ अकाउंट की बात करें तो इसमें एसबीआई का पीपीएफ अकाउंट सबसे अच्छा माना जाता है। 
         आपको इस लेख के माध्यम से एसबीआई में पीपीएफ अकाउंट कैसे खोलते हैं।( SBI PPF ACCOUNT OPEN),  एसबीआई मे ऑनलाइन पीपीएफ अकाउंट खोलने के लिए किन-किन डाक्यूमट्स की जरूरत पढ़ती है। एसबीआई पीपीएफ अकाउंट की विशेषता, पीपीएफ अकाउंट के फायदे, पीपीएफ अकाउंट क्या है, पीपीएफ अकाउंट की ब्याज दर, कितने समय में mature होती हैं रकम, अकाउंट बंद करने की प्रक्रिया क्या है, PPF CALCULATOR IN HINDI,  आदि इन सब के बारे में आपको इस लेख में जानकारी दी जाएगी इसलिए इस लेख को आप ध्यान से पढ़ें और फॉलो करें तो चलिए लेख को शुरू करते हैं।


HOW TO OPEN ONLINE ACCOUNT IN SBI  |  एसबीआई में ऑनलाइन अकाउंट कैसे खोलें। 


 पीपीएफ अकाउंट(PPF ACCOUNT) दो प्रकार से खोल सकते हैं। एक तो किसी भी बैंक या डाकघर में जाकर आप खुलवा सकते हैं। दूसरा तरीका आप घर बैठे ऑनलाइन से भी खोल सकते है। तो हम आपको पीपीएफ अकाउंट ऑनलाइन खोलने का तरीका बताएंगे। 


एसबीआई मे ऑनलाइन पीपीएफ अकाउंट खोलने के लिए किन-किन डाक्यूमट्स की जरूरत पढ़ती है।  


यदि आप एसबीआई ग्राहक हैं तो आप इंटरनेट या मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से ऑनलाइन पीपीएफ अकाउंट खोल सकते हैं। अकाउंट खोलने के लिए निम्न डाक्यूमेंट्स की जरूरत होती है जोकि निम्नानुसार है। 

  • आपके पास आधार नंबर होना चाहिए।
  • आपका आधार नंबर एसबीआई सेविंग अकाउंट से जुड़ा होना चाहिए।
  • आपका मोबाइल नंबर जो आपके आधार से जुड़ा है ओटीपी प्राप्त करने के लिए एक्टिव स्टेटस में होना चाहिए।

Follow these steps to open PPF account online in SBI | एसबीआई पीपीएफ खाता ऑनलाइन खोलने के लिए इन स्टेप्स का फॉलो करें। 

  1. आप यूजर नेम और पासवर्ड के साथ एसबीआई में अकाउंट को लॉगिन करें।
  2. ऊपर दाई और कोने में request and enquiries  टैब पर क्लिक करें।
  3. Dropdown menu se ‘ new PPF accounts  के ऑप्शन को क्लिक करें और उसे सेलेक्ट करें।
  4. आपको NEW PPF ACCOUNT PAGE PER BHEJ DIYA JAEGA IS PAGE PER PAN (PERMANENT ACCOUNT NUMBER)  सहित EXCITING CUSTOMER की डिटेल शो होगी। 
  5. यदि आप किसी नवबालिका के नाम से खाता खोलने जा रहे हो तो आपको उसे टैब की जांच करने की आवश्यकता  है। 
  6. यदि खाता  नाबालिका के नाम से नहीं खोला जा रहा, तो आपको USE BRANCH CODE KO  भरना होगा जिसमें आप पीपीएफ अकाउंट खोलना चाहते हैं।
  7. आप अपना पर्सनल डिटेल पता और नामांकन वेरीफाई करें उसके बाद प्रोसेस पर क्लिक करे 
  8. इस प्रोसेस को करने के बाद एक बॉक्स दिखाई देगा जिसमें लिखा होगा आपका फॉर्म सफलतापूर्वक सम्मिट हो गया है इसमें रेफरेंस नंबर भी होगा। 
  9. अब आपको जो भी आपने फॉर्म भरा है उस फॉर्म संख्या के साथ फॉर्म को डाउनलोड करना होगा।
  10. टैब PRINT PPF ONLINE APPLICATION  से अकाउंट खोलने का फॉर्म प्रिंट करें और 30 दिन के भीतर भीतर केवाईसी दस्तावेज और एक फोटो के साथ शाखा पर जाएं।

SBI के पीपीएफ खाते की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं |SBI PPF KHATE KI KI KUCHH MAHATVPURN VISHESHTAEN  

  • पीपीएफ खाते में साल में कम से कम ₹15 रूपये और अधिकतम ₹500 जमा करा सकते हैं।
  • पीपीएफ खाते की अवधि 15 साल की होती है फिर भी आप इस खाते को एक से 5 साल के लिए और बढ़ा सकते हैं।
  • पीपीएफ खाते पर ब्याज का निर्धारण हर 3 महीने में सरकार निर्धारित करती है वर्तमान में ब्याज 71फ़ीसदी है।
  • ब्याज की गणना न्यूनतम शेष राशि पर महीने के पांचवे दिन और आखिरी तारीख के बीच होती है।
  • पीपीएफ खाते पर ब्याज का भुगतान 31 मार्च को किया जाता है।
  • पीपीएफ खाते पर आप लोन भी ले सकते हैं पर आपको यह ध्यान रखना होगा कि आपका खाता कितना पुराना है और उसमें बैलेंस है या नहीं।
  • पीपीएफ खाते में निवेश करने पर इनकम टैक्स में छूट भी मिलती है।
  • क्या खाते को एक या ज्यादा नॉमिनी के नाम भी दे सकते हैं।  

पीपीएफ अकाउंट कैसे काम करता है और इसके क्या फायदे हैं | PPF ACCOUNT KAISE KAM KARTA HAI AUR AURISKE KYA KYA FAYDE HAIN  

पीपीएफ खाते में कम से कम 15 साल की लॉक इन अवधि होती है यानी कि आप 15 साल से पहले पैसे नहीं निकाल सकते  हैं। पब्लिक प्रॉव्डेंट फंड यानि की PPF ACCOUNT निवेश का विकल्प है।

ब्याज पर कोई टैक्स नहीं लगता और मैच्योरिटी मिलने पर रकम टैक्स के दायरे में नहीं आती इस प्रकार टैक्स का बेनिफिट देखते हुए लोग अपने बैंक या पोस्ट ऑफिस में पीपीएफ अकाउंट खुलवाते है । इसकी सहायता से लोग काफी धन एकत्रित कर लेते हैं। 

पीपीएफ खाते की रकम कितने समय में MATURE  होती है | PPF KHATE KI KI RAKAM KITNE SAMAY MEIN MATURE HOTI HAI  

पीपीएफ खाते की रकम 15 साल के लिए लॉक इन अवधि के लिए होती है यानी कि आप 15 साल से पहले पैसे नहीं निकाल सकते मैच्योरिटी पर निवेशक करता को दो विकल्प मिलते हैं जो कि निम्न है।

  1. या तो खाते से पैसा निकाल ले और खाता बंद कर दें।
  2. 5 साल के लिए ब्लॉक के खाते को चालू रखें। 

अकाउंट को बंद करने की प्रक्रिया क्या है | ACCOUNT KO BAND KARNE KI  PRAKRIYA KYA HAI  

यदि आपको खाता बंद करवाना है तो आपको उस बैक की ब्रांच या पोस्ट ऑफिस में जाना पड़ेगा जहां पर आपका खाता खुला हुआ है, खाते में जमा पैसे को निकालने और इसे बंद करने के लिए एक लिखित आवेदन देना होगा और ओरिजिनल पासबुक की जरूरत होगी। अब आपको उस बैंक खाते की डिटेल देनी होगी जिसमें पैसे को ट्रांसफर करना है। कैंसिल हुए चेक के साथ पत्ते और पहचान प्रूफ अटैच करना होगा, बैंक अधिकारी या पोस्ट अधिकारी आपके खाते की जांच करेंगे यदि आपके खाते की पूरी हो गई है तो बैंक का अधिकारी आपके खाते को बंद कर देगा और आपके रकम को आपके द्वारा बताए गए बैंक में ट्रांसफर कर देगा। 

पांच साल के ब्लॉक के खाते को चालू रखने की प्रक्रिया क्या है | 5 SAL KE BLOCK KHATE KO CHALU RAKHNE KI PRAKRIYA KYA HAI  

इस मामले में आपके खाते की 1 साल के भीतर एक निर्धारित फोरम में बैंक  या पोस्ट ऑफिस में लिखित में सूचना देने की जरूरत होती है आप बिना किसी नए कंट्रीब्यूशन के जमा रकम के साथ खाते को चालू रख सकते हैं।दूसरा विकल्प यह भी है आप निवेश करते हुए एक डिपॉजिट पर टैक्स डिडक्शन का फायदा उठाते रहे मैच्योरिटी के बाद 5 साल का एक ब्लॉक हो जाने पर खाते को और 5 साल के लिए चालू रख सकते हैं यह क्रम जब तक चलता रहेगा जब तक आपका अकाउंट बंद नहीं किया जाता है और आपकी ब्याज पर आय होती रहेगी। 

PPF :  बच्चों के भविष्य के लिए निवेश । 

  • यदि आपके बच्चे की उम्र 18 साल हो गई है तो आप उसके नाम पर अलग से 1.5 लाख रुपए निवेश कर सकते हैं इससे बच्चों की अलग आमदनी भी हो सकती है बच्चे की शिक्षा के लिए पीपीएफ फंड एक बेहतरीन तरीका है।  

पीपीएफ की ब्याज दर और इसकी गणना | PPF RATE OF INTEREST  

  • पीपीएफ एक सरकारी स्किम है जो कि दिल खोलकर ब्याज देती है और पीपीएफ पर मिलने वाले ब्याज दर बैंक के फिक्स डिपाजिट से काफी ज्यादा होती है इस वक्त बैंक की एफडी पर 6 परसेंट से करीब इंटरेस्ट मिल रहा है वही पीपीएफ की ब्याज दर 7.1% है।
  • वैसे तो सरकार हर 3 महीने में पीपीएफ की ब्याज दर की समीक्षा करती है लेकिन आमतौर पर कोशिश रहती है की इस रेट को आकर्षित रखा जाए।
  • पीपीएफ खाते का इंटरेस्ट कैलकुलेशन वित्त वर्ष के अंत में होता है यानी कि का 30 मार्च को ब्याज की गणना करके आपके बैलेंस में जोड़ा जाता है हालांकि ब्याज की गणना मासिक आधार पर होती है देखा जाता है कि इस महीने की 5 तारीख से लेकर आखरी दिन के बीच खाते में न्यूनतम पैसा कितना था। इसी रकम पर ब्याज कैलकुलेट किया जाता है। 

पीपीएफ खाते पर रिटर्न | PPF GIVES RETURNS ABOVE INFLATION  

  • फिलहाल सरकार ने पीपीएफ पर 7.1% का ब्याज दे रही है यह इंटरेस्ट रेट अच्छा माना जाएगा क्योंकि बैंक के डिपॉजिट पर इसे कहीं कम ब्याज मिलता है और इस ब्याज दर के चलते आप आसानी से महंगाई को मात दे सकते हैं। 
  • सन 2020 में ज्यादातर गवर्नमेंट बैंक के लंबी अवधि की एफडी पर 6% से कम ब्याज रहा जबकि पीपीएफ तुलनात्मक रूप से एक परसेंट से ज्यादा रिटर्न दे रहा है। 
  • आप अपने पीपीएफ अकाउंट में जमा धनराशि के आधार पर बैंक या वित्तीय संस्थान से लोन ले सकते हैं। 

पीपीएफ स्कीम में छूट | TAX EXEMPTION  

  • PPF ACCOUNT आपकी सोशल सिक्योरिटी से जुड़ी हुई स्कीम है और सरकार इसे बढ़ावा देना चाहती है। इसलिए सरकार इस योजना पर कई तरह के टैक्स बेनिफिट देती है जो कि निम्न प्रकार से है। 
  1. जामा पर टैक्स छूट 
  2. ब्याज पर टैक्स नहीं
  3. Maturity  की रकम पर टैक्स फ्री  

पीपीएफ अकाउंट कहां खुलवाया जा सकता है। WHERE CAN ONE OPEN A PPF ACCOUNT 

  • पीपीएफ अकाउंट खोलने के लिए किसी भी विकल्प का चुनाव कर सकते हैं जो कि निम्न है।
  1. आप पीपीएफ अकाउंट एसबीआई में खुलवा सकते हैं या किसी सहयोगी बैंक में खुलवा सकते हैं।
  2. कुछ नेशनल बैंक मे जो चुनिंदा शाखाएं हैं उनमें भी पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं।
  3. चुनिंदा पोस्ट ऑफिस में भी पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं।  

पीपीएफ पर लोन | LOAN AGAINST PPF DEPOSITE  

आप लोग पीपीएफ से आसानी से लोन ले सकते हैं इस अकाउंट से लोन लेने के कई महत्वपूर्ण फायदे हैं जिन्हें हम आपको विस्तार से बताएंगे जोकि निम्न प्रकार से है। 

  1. PPF लोन की ब्याज दर काफी कम होती है। आपको बस पीपीएफ का ब्याज दर से 1% ज्यादा ब्याज देना पड़ेगा।
  2. अकाउंट खुलवाने के बाद तीसरे साल से आप लोन ले सकते हैं।
  3. लोन लेने के लिए आपको कुछ गिरवी नहीं रखना पड़ेगा। 
  • PPF से लोन सस्ता पड़ता है लेकिन लोन की रकम काफी कम होती है आपको बता दें कि PPF ACCOUNT पिछले वित्तीय वर्ष में लास्ट बैलेंस रहा होगा उसका 25% लोन के रूप में ले सकते हैं।  

पीपीएफ पर लोन लेने की शर्तें | PPF PER LOAN LENE KI SARTE  

 पीपीएफ पर लोन लेने की शर्तें निम्नलिखित हैं जो कि निम्नानुसार है। 

  1. आपके अकाउंट में नियमित आधार पर हर वर्ष से कम से कम ₹500 डिपाजिट होने चाहिए ऐसे ना होने पर आपको लोन नहीं मिल नहीं मिल सकता।
  2. यदि आप पेनल्टी के साथ पिछले वर्ष का मिनिमम जमा करा देते हैं तो फिर आप लोन लेने के लिए योग हो जाते हैं।
  3. आप एक ही साल में दो बार पीपीएफ से लोन लेने के लिए फॉर्म अप्लाई नहीं कर सकते।
  4. जब तक आपका पिछला लोन नहीं चूकता तब तक आप नए लोन के लिए अप्लाई नहीं कर सकते।
  5. पीपीएफ लोन की अदायगी आपको 36 महीने के अंदर कर देनी होती है इससे आप एकमुशत या इंस्टॉलमेंट जैसे आपकी सुविधा हो वैसे आप कर सकते हैं।
  6. अगर आप इस अवधि में लोन चुकता नहीं करते हैं तो इसके बाद के फाइनेंसियल ईयर में आपको दो परसेंट की बजाए 6 परसेंट ब्याज लगेगा।
  7. क्या आपने किसी फाइनेंसियल ईयर के दौरान लोन 3 महीने में चुका दिया है तो भी उस वित्तीय वर्ष से खत्म होने तक है आपको नया लोन नहीं मिलेगा उसके बाद आप अगले वित्तीय वर्ष में लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।  

पीपीएफ अकाउंट का ट्रांसफर | YOU CAN TRANSFER PPF ACCOUNT  

  • आप पीपीएफ अकाउंट को ट्रांसफर करवा सकते हैं आप पीपीएफ खाते को ना केवल ब्रांच बदल सकते हैं बल्कि बैंक भी बदल सकते हैं यहां तक कि खाते की पोस्ट ऑफिस से बैंक के और बैंक से पोस्ट ऑफिस में भी ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • इस प्रकार की सुविधा और किसी में नहीं मिलती है वैसे पीपीएफ अकाउंट का ट्रांसफर करना थोड़ा जटिल है क्योंकि इसके लिए आपको दोनों जगह जाना पड़ता है सबसे पहले उस बैंक में जाना होगा जहां आपका बैंक खाता है पहले से वह खाता ट्रांसफर करने का एप्लीकेशन देना होगा वह बैंक अपने यहां खाता बंद करके नए बैंक के नाम पर चेक और सारा डिटेल जारी कर देगा। 
  • अब नए बैंक में इस चेक और डिटेल के साथ है नया पीपीएफ खाता खोलना होगा नए बैंक में खुले खाते में पुराने बैंक का पैसा वापस आ जाएगा और आपक खाते की अवधि पुराने बैंक के हिसाब से जोड़ी जाएगी । 

पीपीएफ पासबुक | PPF PASSBOOK  

  • PPF लंबी अवधि के लिए किए जाने वाला निवेश है। इसलिए पीपीएफ आपको अनुमति देता है कि आपके पास निवेश का रिकॉर्ड रख सके इसलिए पीपीएफ पासबुक में आपके निवेश की सभी जानकारी होती है। 
  • और पढ़ें क्रिया किसे कहते हे CLICK HERE

पीपीएफ खाते का बैलेंस जाने | PPF KHATE KA KA BALANCE JANE  

  • पीपीएफ खाते का बैलेंस जानने के निम्न तरीके हैं। 
  1. सबसे पहले आप यह सुनिश्चित करें कि आपके बैंक खाते की नेट बैंकिंग एक्टिव हो।
  2. नेट बैंकिंग अकाउंट को लॉगिन करें।
  3. लॉगइन करते ही आपके पीपीएफ अकाउंट का बैलेंस दिख जाएगा।
  4. उन बैंकों की लिस्ट जहां पर आप एक पीपीएफ अकाउंट खोल सकते हैं।  
  • संज्ञा पढ़ने के लिए यहां click करे

यदि आपको हमारा यह लेख PPF ACCOUNT KYA HAI , PPF ACCOUNT KAISE KHOLTE HAIN, PPF  ACCOUNT FAYDE KYA HAI,  PPF ACCOUNT BANK MEIN KAISE KHOLA JATA HAI, PPF ACCOUNT KI BYAAJ DAR KYA HAI, यदि आपको पीपीएफ अकाउंट की पूरी जानकारी अच्छी लगी है तो कृपया इसे शेयर करें अपने दोस्तों वे रिश्तेदारों के साथ आपकी अति कृपा होगी, धन्यवाद । 

आप हमें फेसबुक पेज पर फॉलो करे —-FACEBOOK