हेलो दोस्तो नमस्कार हमने इस बार तीनों संज्ञान और उसके प्रकार पूरे लिख दिए हैं कृपया इसे अंत तक पढ़े

संज्ञा

इसका शाब्दिक अर्थ होता है नाम

नाम का दूसरा नाम संज्ञा है

किसी व्यक्ति वस्तु स्थान पदार्थ अर्थात भाव के नाम को संज्ञा कहा जाता है

उदाहरण सोहन गीता पंखा पेड़ आम आदि

संज्ञा तीन प्रकार की होती हैLearn about nounLearn about noun

संज्ञा http://संज्ञा

1 व्यक्तिवाचक संज्ञा Noun

जिस संज्ञा Noun के माध्यम से व्यक्ति विशेष के नाम का बोध होता है उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं

उदाहरण राम सीमा नरेश आदि

पहचान कैसे करें

1 मार्गों के नाम — विकास पथ राजपथ

2 व्यक्तियों के नाम — राम सीता मोहन गीता

3 नदियों के नाम — गंगा जमुना सरस्वती माही

4 दिनों के नाम — सोमवार मंगलवार बुधवार

5 त्योहारों के नाम — दिवाली होली ईदूलफित्र

6 संवतो के नाम — विक्रम संवत हज संवत

7 नक्षत्रों के नाम — सोम मंगल शनि

8 शहरों के नाम — जयपुर अमृतसर श्रीनगर

9 गांव के नाम — रूपबास मालखेड़ा

10 समाचार पत्रों के नाम — दैनिक भास्कर राजस्थान पत्रिका

11 मैगज़ीनों के नाम — हंस पत्रिका इंडिया टुडे

12 युद्धों के नाम — खानवा का युद्ध प्रथम विश्व युद्ध

2 जातिवाचक संज्ञा Noun

जिस संज्ञा Noun के माध्यम से जाति का बोध होता है अर्थात किसी व्यक्तितित वस्तु स्थान की संपूर्ण जाति का पता लगता है उसे जातिवाचक संज्ञा कहा जाता है

उदाहरण — नदी पर्वत आदमी शहर अध्यापक छात्र आदि

पहचान

1 पदों के नाम पटवारी मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री राष्ट्रपति

2 फलों के नाम आम सेव अमरूद

3 पशुओं के नाम गाय भैंस ऊंट

4 वाहनों के नाम स्कुटी कार ट्रैक

5 फसलों के नाम बाजरा सरसों गेहूं

(१) समूहवाचक संज्ञा

जातिवाचक संज्ञा के कुछ नाम जो समूह गत होते हैं उन्हें समूहवाचक संज्ञा Noun कहा जाता है जैसे कक्षा बीड़ मंडल गुच्छा समिति पुंज सेना अक्षत आदि

(२) द्रव्यवाचक संज्ञा

जिस संज्ञा के माध्यम से नाप माफ तोर वाली वस्तुओं के नामों का पता चलता है उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहा जाता है जैसे कपड़ा तेल सोना दूध ऑक्सीजन आदि

3 भाव वाचक संज्ञा

भागवत नामों का बोध कराने वाली संज्ञा को भाववाचक कहते हैं जैसे सहनशीलता गुस्सा आंसू लड़ाई पढ़ाई चटाई लिखाई बचपन गर्व आदि