Category

Environment

March 3, 2021

विश्व वन्यजीव दिवस 2021: World Wildlife Day 2021

विश्व वन्यजीव दिवस 2021

दुनियाभर में लुप्त हो रही वनस्पतियों और जीव-जंतुओं की प्रजातियों के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 3 मार्च को विश्व वन्यजीव दिवस यानी वर्ल्ड वाइल्डलाइफ डे मनाया जाता है। इस खास दिवस पर दुनियाभर की सरकारें वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए कई तरह के जागरूकता अभियान आोजित करती हैं। वहीं संयुक्त राष्ट्र महासभा हर साल अलग-अलग थीम से इस खास दिवस को मनाता है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा इस साल विश्व वन्यजीव दिवस की थीम ‘वन और आजीविका: लोगों और ग्रह को बनाए रखना’ है।

विश्व वन्यजीव दिवस 2021

बता दें …

July 25, 2020

Environmental Movement of india

Raging movement


The emergence of the first mass movement against indiscriminate cutting of trees in Khejdali village of Rajasthan, which is 25 km away from Jodhpur, took place in 1731, this village and its surrounding area is dominated by Vishnoi caste.

The basis of culture of this village is 20 + 9 formula. One of the important formulas is to protect the trees.

A movement led by a courageous woman, Amrita Devi, was waged against the cutting of trees under this order,

ordered by the then Maharaja of Jodhpur to get wood to be burnt from Khejdali village.

movement trees…

July 25, 2020

Human And Wildlife Conflicts ???

Human And Wildlife Conflicts

Due to misconceptions of human beings, the risk of extinction of wild species has increased, it has a direct impact on the whole human world. In ancient times, there was a relationship of friendship between wildlife and human beings and wild life freely in the ashram of sage-minds. We used to worship our religious beliefs, various trees, plants and animals were venerable, but with the development of human civilization, harmony between wildlife and human beings started to decrease and religious and moral values ​​started to decline, which caused a threat to the existence of wildlife. Destroying …

May 30, 2020

पर्यावरण संबंधी आंदोलन Environmental Movement

खेजड़ली आंदोलन

वृक्षों की अंधाधुंध कटाई के विरुद्ध प्रथम जन आंदोलन का उदय राजस्थान के खेजड़ली ग्राम में जो जोधपुर से 25 किलोमीटर दूर है 1731 में हुआ इस ग्राम व उसके आसपास के क्षेत्र में विश्नोई जाति की बहुलता है इस ग्राम की संस्कृति का आधार 20+9 सूत्र है जिनमें से एक महत्वपूर्ण सूत्र वृक्षों की रक्षा करना है

खेजड़ली ग्राम से जलाने की लकड़ी प्राप्त करने के लिए जोधपुर के तत्कालीन महाराजा द्वारा आदेश दिए गए इस आदेश के तहत वृक्षों के काटे जाने के विरोध में एक साहसी महिला अमृता देवी के नेतृत्व में आंदोलन छेड़ा गया…

May 27, 2020

मानव एवं वन्य जीव विवाद क्या है? Human And Wildlife Conflicts

मनुष्य की गलत धारणाओं के कारण वन्य प्रजातियों के विलुप्त होने का खतरा बढ़ा है इसका प्रत्यक्ष प्रभाव समस्त मानव जगत पर पड़ता है प्राचीन काल में वन्य जीव एवं मानव के बीच मित्रता का संबंध था तथा ऋषि-मनियों के आश्रम में वन्य जीव मुक्त रूप से विचरण करते थे हमारी धार्मिक मान्यताओं मैं भी विभिन्न पेड़ पौधे एवं जीव जंतु पूजनीय थे किंतु मानव सभ्यता के विकास के साथ साथ वन्य जीव एवं मानव के बीच सद्भावना घटने लगी एवं धार्मिक तथा नैतिक मूल्यों में कमी आने लगी जिससे वन्यजवों के अस्तित्व पर संकट उत्पन्न होने लगा वन्य जीवन …

May 26, 2020

वन्यजीवों को खतरा क्या है? Threats to Wildlife

सामान्य अर्थ में वन्य जीव जंतुओं के लिए प्रयुक्त होता है जो प्राकृतिक आवास में निवास करते हैं भारत जैव विविधता में से संपन्न राष्ट्र है यहां जलवायु एवं प्राकृतिक विविधता के कारण लगभग 48 हजार पादप एवं लगभग 80 हजार से अधिक जीव जंतुओं की जातियां पाई जाती हैं

वन्यजीवों के विलुप्ती के कारण

इसके विलुप्ती के कारण दो कारक हैं

  1. प्राकृतिक कारक
  2. मानव जनित कारक

प्राकृतिक कारण (Natural Causes)

भूकंप सूखा ज्वालामुखी के फटने से अथवा धरती पर उल्का पिंडों के गिरने से क्षेत्र विशेष में उपलब्ध जातियां नष्ट होकर विलुप्त हुई पृथ्वी पर अनुवांशिकी रूप से भिन्न …

May 25, 2020

ओजोन परत का क्षरण क्या है ? Ozone Layer Depletion

ओजोन परत क्या है-O3

ओजोन ऑक्सीजन का ही एक दूसरा अपररूप है परमाणु संख्या 2 से ऑक्सीजन स्थाई रूप में होती है किंतु ओजोन में 3 परमाणु होते हैं अतः यह अपेक्षाकृत कम स्थाई होती है

यह वायुमंडल के समताप मंडल में पृथ्वी की सतह से 30 किलोमीटर की ऊंचाई पर एक सघन वह लगभग 20 किलोमीटर मोटाई का एक गहरा होता है

यह गैस गुरुत्वाकर्षण बल के कारण एक परत के रूप में पृथ्वी के चारों ओर तनी रहती है

इसी ओजोन परत के कारण पृथ्वी को विलक्षण ग्रह होने का दर्जा मिलता है

  • समताप मंडलिय ओजोन लगातार उत्पन्न

May 24, 2020

वैश्विक ताप वृद्धि क्या है? Global Warming

वैश्विक ताप वृद्धि

मनुष्य द्वारा किए गए प्रकृति से छेड़छाड़ अतीव औद्योगिकीकरण एवं प्रत्येक क्षेत्र में बढ़ रहे प्रदूषण के कारण पृथ्वी के तापमान में उत्तरोत्तर वृद्धि हो रही है विश्व का औसतन तापमान पिछले कई वर्षों से तेजी से बढ़ा है यदि तापमान की वृद्धि दर ऐसी ही रही तो अगले 100 वर्षों में पृथ्वी का तापमान 3 से 5 डिग्री सेल्सियस बढ़ जाएगा पृथ्वी का तापमान बढ़ने का प्रमुख कारण जलवायु परिवर्तन है

ग्लोबल वार्मिंग के मुख्य कारण

  1. हरित हरित गृह प्रभाव
  2. हरित गृह गैस
  3. मानव क्रियाकलापों का योगदान

हरित गृह प्रभाव ठंडे प्रदेशों में गर्मी बनाए रखने …

May 24, 2020

हरित गृह प्रभाव क्या है Green House Effect in Hindi

हरित गृह प्रभाव प्रभाव या ग्रीनहाउस हरितगृह प्रभाव (greenhouse effect) एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जिसके द्वारा किसी ग्रह या उपग्रह के वातावरण में मौजूद कुछ गैसें वातावरण के तापमान को अपेक्षाकृत अधिक बनाने में मदद करतीं हैं। इन ग्रीनहाउस गैसों में कार्बन डाई आक्साइड, जल-वाष्प, मिथेन आदि शामिल हैं।

ग्रीन हाउस क्या है समझाइए?

हरितगृह या ग्रीनहाउस (ग्लासहाउस भी कहा जाता है) एक इमारत है, जहां पौधे उगाये जाते हैं। … हालांकि, प्रवाह के कारण उष्मा का कुछ नुकसान होता है, लेकिन इससे ग्रीन हाउस के अंदर ऊर्जा (और इस तरह तापमान) में विशुद्ध वृद्धि होती है। गर्म आंतरिक …

May 23, 2020

जलवायु परिवर्तन क्या है ? Climate Changes

जलवायु परिवर्तन

हमारी पृथ्वी को चारों तरफ से गिरी हुई वायु की परत को वायुमंडल कहते हैं इस वायुमंडल में होने वाले प्रतिदिन के परिवर्तन को जलवायु कहते हैं

तापमान, दाब नमिंग वर्षा सूर्य का प्रकाश, बादल तथा वायु का प्रभाव मौसम तथा जलवायु को प्रभावित करते हैं

किसी भी स्थान की जलवायु उस की समुद्र तल से ऊंचाई अक्षांश समुद्र से दूरी तथा अन्य स्थानीय भौगोलिक कारणों (Geographical Factors) से प्रभावित होती है

सभी परिवर्तन वायुमंडल की छोभ मंडल (Troposphere) स्तर में होते हैं जोकि समताप मंडल (Stratosphere) से गिरी होती है

  • किसी भी स्थान के मौसम के लिए